Monday, August 8, 2022
Homeकानूनभड़काऊ भाषण(Hate Speech) या बयान या अभद्र भाषा इतने वर्षों कि हो...

भड़काऊ भाषण(Hate Speech) या बयान या अभद्र भाषा इतने वर्षों कि हो सकती है सजा

 

भड़काऊ भाषण(Hate Speech) या बयान या अभद्र भाषा क्या होगी? इसकी कोई निश्चित कानूनी भाषा नहीं है। लेकिन अगर बोलकर, लिखकर, इशारों में या किसी भी तरह से हिंसा भड़काने की कोशिश की जाती है या दो समुदायों या समूहों के बीच सद्भाव को बिगाड़ने की कोशिश की जाती है, तो ऐसा करना अपराध होगा। इसे ‘अभद्र भाषा’ कहा जाता है।
2017 में विधि आयोग ने 267वीं रिपोर्ट पेश की। इस रिपोर्ट में, विधि आयोग ने कहा था, ‘अभद्र भाषा कोई भी लिखित या बोला गया शब्द, हावभाव या कोई प्रस्तुति हो सकती है जो देखने या सुनने पर भय पैदा कर सकती है या हिंसा को प्रोत्साहित कर सकती है।’

देश में भड़काऊ भाषण देने को लेकर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 153ए और 153एए के तहत मामला दर्ज किया गया है. कई मामलों में धारा 505 भी जोड़ी जाती है।

धारा 153ए कहती है, ‘धर्म, जाति, जन्म स्थान, भाषा आदि के आधार पर दो समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना। यह धारा आगे कहती है, ‘यदि यह किसी धार्मिक स्थान या सभा में किया जाता है, तो 5 के कारावास का प्रावधान है। वर्षों।’
धारा 505 के तहत भड़काऊ बयान देना अपराध है। धारा 505 (1) के तहत, यदि एक समुदाय को दूसरे समुदाय के खिलाफ अपराध करने के लिए उकसाया जाता है और शांति भंग होती है, तो 3 साल की कैद का प्रावधान है। वहीं, 505 (2) में प्रावधान है कि दो वर्गों के बीच शत्रुता, घृणा या द्वेष पैदा करने वाले बयान देना अपराध है। इसकी उप-धारा (3) में प्रावधान है कि यदि यह कार्य किसी धार्मिक स्थल या धार्मिक समारोह में किया जाता है तो इसमें 5 वर्ष तक की कैद हो सकती है।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES