No menu items!
Saturday, August 13, 2022
Homeउत्तर प्रदेशUnnao:अवैध कब्जेधारियों ने शिकायतकर्ता के घर पर की दर्जनों लोगों के साथ...

Unnao:अवैध कब्जेधारियों ने शिकायतकर्ता के घर पर की दर्जनों लोगों के साथ हथियारबंद चढ़ाई द ग्रेट चैरिटेबल ट्रस्ट ऑफ इंडिया के जिला महासचिव गिरीश बाबू कुशवाहा को अवैध कब्जे दारो की शिकायत करना पड़ा भारी

मामला उन्नाव जनपद के तहसील बांगरमऊ के अंतर्गत ग्राम पंचायत मटकारी का है जहां पर ग्राम मटुकरी निवासी ग्राम गिरीश बाबू ने 18 मई 2022 को जिलाधिकारी महोदय को ज्ञापन देकर अवैध कब्जेदारो के द्वारा कब्जा की गई सरकारी भूमि को मुक्त कराने के लिए शिकायत पत्र दिया था जिसके बाद गत बृहस्पतिवार को भूमि की पैदाइश की गई तथा काफी जद्दोजहद के बाद अवैध कब्जेधारियों के खिलाफ लेखपाल व चकबंदी लेखपाल तथा कानूनगो की सहमत से सभी अवैध कब्जेदारों के खिलाफ लीगल नोटिस दी गई।

7 जून 2022 दिन मंगलवार को जब दोपहर उप जिलाधिकारी महोदय से गिरीश बाबू ने उसे जमीन को लेकर बात की तो उप जिलाधिकारी महोदय ने शनिवार 11 जून 2022 को अवैध कब्जा हटवाने की बात कही। तथा अवैध निर्माण हटाने में उपयुक्त जेसीबी बुलडोजर का खर्च गिरीश बाबू से वहन करने के लिए कहा जिसमें गिरीश बाबू तैयार हो गए और अपने घर वापस आ गए। अवैध निर्माण एवं जमीन जाने के डर से बौखलाए मनोज कुमार सिंह, विजय प्रताप सिंह, मोहित सिंह पुत्रगढ़ अमोल सिंह, शंकर सिंह पुत्र संतबक्स सिंह, फतेह बहादुर सिंह अजय बहादुर सिंह पूर्व ग्राम प्रधान मंत्री शेरा सिंह उर्फ अविनाश प्रताप सिंह पिंटू सिंह उर्फ आकाश सिंह अवधेश प्रताप सिंह उर्फ नाननान पुत्रगढ़ रघुवीर सिंह रामलखन सिंह शिवसागर सिंह उर्फ दीपू पुत्रगढ़ बसंत सिंह, ने करीब 2 सैकड़ा अपने समर्थकों (लोगों) के साथ प्रार्थी के घर पर चढ़ाई कर दी। जिस पर प्रार्थी ने न्याय के लिए पुलिस अधीक्षक महोदय उन्नाव से न्याय के लिए गुहार लगाई।

पुलिस अधीक्षक के आदेश के बाद बेहटा मुजावर थाना पुलिस मौके पर पहुंचकर पीड़ित गिरीश बाबू वाह विपक्षी गढ़ एक व्यक्ति को उठाकर 107/16 की धाराओं में चालान कर दिया। गांव में लगातार अभी भी भय का माहौल व्याप्त है पीड़ित के घर के लोगों को जान माल का खतरा बना हुआ है। जिस आशा और उम्मीद के साथ गिरीश बाबू ने अवैध कब्जेधारियों के खिलाफ सरकारी भूमि मुक्त कराने की मांग की थी वह मुक्त हो पाएगी या फिर कोई नई कहानी गढ़ी जाएगी।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES