Friday, August 12, 2022
Homeमध्य प्रदेशबीजेपी प्रत्याशी ने लगाये मनगढ़त आरोप- अब्दुल गफ्फार

बीजेपी प्रत्याशी ने लगाये मनगढ़त आरोप- अब्दुल गफ्फार

जिला ब्यूरो/ मनोज सिंह

बीजेपी प्रत्याशी ने लगाये मनगढ़त आरोप- अब्दुल गफ्फार
हाजियों के सम्मान में खलल पैदा करने को बताया अपमान

टीकमगढ़। वार्ड नंबर 22 के कांग्रेस प्रत्याशी अब्दुल गफ्फार ने उनके विरूद्ध की गई शिकायत को जहां छवि खराब करने का षड्यंत्र बताते हुये झूठी शिकायत करने वाले के विरूद्ध कार्रवाई करने पर जोर दिया है। वहीं हज यात्रा पर जाने तीर्थ यात्रियों ने सम्मान समारोह में पैदां किये गये खलल पर नाराजगी जाहिर करते हुये प्रशासन से शिकायतकर्ता के खिलाफ कार्रवाई किये जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि राजनैतिक स्तर में गिरावट आई है, स्वार्थपूर्ति के लिये इस हद तक मुस्लिम समाज के प्रत्याशी जा सकते हैं। जो निंदनीय है। बताया गया है कि उम्मीदवार अब्दुल गफ्फार को जारी किये गये नोटिस के जबाव में उम्मीदवार अब्दुल गफ्फार उर्फ पप्पू मलिक ने कहा है कि उन्हें 26 जून 2022 की रात्रि 9: 30 बजे भेजे गये सूचना पत्र भेजा गया, जिसका जबाव दिया जा रहा है। जिसमें कहा गया है कि सूचना पत्र के पद के लेख अमान्य एवं अस्वीकार हैं, प्रार्थी के प्रतिद्वंद्वी द्वारा निराधार एवं मनगंढत आधारो पर शिकायत की गई है। लक्कड़ खाना के अन्दर धार्मिक स्थल दरगाह पर हाजियों का इस्तकबाल किया जा रहा था। वह वार्ड नं 25 हैं और उक्त आयोजन में प्रार्थी का कोई भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष सहयोग नहीं है। इस आयोजन की जानकारी जब प्रार्थी के द्वारा तलब की गई, तो ज्ञात हुआ कि उक्त आयोजन समाज के लोगों के द्वारा लक्कड़ खाना के अन्दर धार्मिक स्थल दरगाह पर हाजियों का इस्तकबाल समारोह किया गया है, जिसमें हजयात्रियों का फ ूल मालाओं से स्वागत किया गया था, जो कि हजयात्री हैं और उक्त धार्मिक आयोजन है। उक्त आयोजन के बाद आज दिनांक को उक्त आयोजन में सम्मिलित हज यात्री यात्रा के लिए भी रवाना हो गये हैं और जिसकी सूचना मीडिया के द्वारा भी प्रसारित की गई है। समाचार पत्र दैनिक भास्कर सागर सोमवार 27 जून 2022 पेज नं 14 में प्रकाशित की गई हैं, जिससे यह सिद्ध होता हैं कि उक्त आयोजन में प्रार्थी का कोई भी सहभागिता नहीं हैं । इसके अलावा यह भी प्रार्थी पर नोटिस प्रेषित करने वाला व्यक्ति आम व्यक्ति हैं और कोई लोक सेवक नही हैं और ऐसे निर्वाचन के कार्य में ऐसे आम व्यक्ति की सहभागिता निर्वाचन की कार्य प्रणाली पर प्रश्नचिन्ह उठाते हैं । प्रार्थी वार्ड नं 22 से निर्वाचन में भाग ले रहा हैं और उसके द्वारा कोई भी आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया गया है, बल्कि विरोधी के द्वारा ऐसी मिथ्या शिकायत प्रार्थी की छवि को धूमिल करने की मंशा की गई है। ऐसी शिकायत निराधार एवं मनगढंत है, जो निरस्त किया जाना न्याय संगत है और ऐसी मिथ्या शिकायत के संबंध में शिकायतकर्ता के विरुद्ध कारण बताओ नोटिस जारी किया जाना न्यायसंगत है । यह कि इसके अलावा प्रार्थी 26 जून 2022 को कलेक्टर के समक्ष मीटिंग में 11 दिन से लगभग 1: 30 बजे दोपहर तक सभी पार्षद सहित उपस्थित रहा है। इसके बाद वह अपने कॉलेज परिसर आ गया था और मोबाईल लोकेशन से भी प्रार्थी की लोकेशन की जानकारी प्राप्त की जा सकती हैं । अस्तु उपरोक्तानुसार जबाव को संलग्न कर प्रार्थी के विरुद्ध जारी कारण बताओ नोटिस निराधार एवं मनगढत होने से निरस्त करने किया जाए। ऐसी मिथ्या शिकायत करने के संबंध में शिकायतकर्ता के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES