No menu items!
Saturday, August 13, 2022
Homeउत्तर प्रदेशUnnao: सामुदायिक शौचालय व्यवस्था में जिम्मेदार लगा रहे पलीता

Unnao: सामुदायिक शौचालय व्यवस्था में जिम्मेदार लगा रहे पलीता

अधिकांश समय लटकता रहता है ताला

प्रदेश सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में पर्यावरण स्वच्छ रखने व खुले में शौच जाने से रोकने के लिए ग्राम निधि से लाखों रुपये की लागत से सामुदायिक शौचालय का निर्माण कराया गया है। सरकार के सपनों को साकार करने के लिए खुलने और बन्द होने का समय निर्धारण भी किया गया। लेक़िन इसके बाद व्यवस्था बेपटरी पर आकर खड़ी है। हॉल यह है, कि ताला बंद कर सार्वजनिक शौचालय की निगरानी की जा रही है। अधिकारियो का कहना है, कि जहां यह शिकायतें मिली है। वहां जवाब मांगकर कार्रवाई की जाती रही है। अगर ऐसा कुछ है, तो कार्रवाई की जाएगी।

विकासखंड मियागंज क्षेत्र की 74 ग्राम पंचायतों में से 73 ग्राम पंचायत के हर गांवों या पंचायत में पांच लाख इकहत्तर हजार रुपये की लागत से सामुदायिक शौचालयों का निर्माण कार्य कराया गया है। जबकि एक ग्राम पंचायत आसीवन पश्चिम में एक लाख अस्सी हजार रुपये की लागत से शौचालय निर्माण कराया गया था। शौचालय के देखभाल व खोलने, बन्द करने के लिए सहायता समूह के मित्र की भी तैनाती की गई है। उन सभी के मानदेय भी सरकार से स्वीकृत होकर मिलता है। लेकिन इसके बाद भी जिन शौचालयों पर इनकी तैनाती की गई, वह कभी अपने स्थान पर दिखते ही नहीं। लोगों का कहना है, कि जब निर्माण के बाद उद्धघाटन किया गया था। तब तो दो-चार दिन शौचालय का लाभ लोग उठा पाए थे। लेकिन हफ्ता बिताते ही सब धरासाई हो गया। जो अब तक न खुल सका।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES