No menu items!
Saturday, August 13, 2022
Homeउत्तर प्रदेशसफीपुर ग्राम पंचायत मुडंहा के ग्राम सचिव व प्रधान पर सीडीओ ने...

सफीपुर ग्राम पंचायत मुडंहा के ग्राम सचिव व प्रधान पर सीडीओ ने बैठाई जांच

वित्तीय कार्य में अनियमितता की शिकायत पर हुई कार्यवाही

7 दिन में बीडीओ सफीपुर को सौंपनी होगी जांच रिपोर्ट

 

ब्लॉक सफीपुर अंतर्गत ग्राम सभा रायपुर द्वितीय मजरा मुड़हा उन्नाव के ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत सचिव द्वारा शासकीय योजना में भ्रष्टाचार करने व बिना कार्य कराए धनराशि की निकासी करने की शिकायत सीडीओ उन्नाव से की जिस पर सीडीओ द्वारा शासकीय योजनाओं में भ्रष्टाचार और बिना कार्य कराए जाने की धनराशि आहरण पर 7 दिन में बीडीओ सफीपुर को निर्देश दिया गया है कि वित्तीय वर्ष 2021-22, 23 में मनरेगा योजनाओं में कराए गए समस्त कार्यों से संबंधित पूर्ण पत्रावली, एमबी, कैश बुक, लेजर,आदि ग्राम पंचायत में बनाए जाने वाले समस्त प्रकार के रजिस्टर यथा समिति रजिस्टर आदि पत्र की प्रति दो दिवस के अंदर उपलब्ध कराएं ,ताकि जांच अधिकारियों को दी जा सके। आपको बताते चलें कि शिव प्रकाश पुत्र उदय नारायण निवासी ग्राम सभा रायपुर द्वितीय मजरा मोड़हा के शिकायती पत्र पर सीडीओ उन्नाव दिव्यांशु पटेल ने 13 जुलाई 2022 को यह आदेश देते हुए कि रायपुर ग्राम सभा के विकास कार्यों की जांच कराए जाने का निर्देश अधिकारियों को दिया।

ग्राम सभा रायपुर मजरा मुड़हा के प्रधान राजकुमारी पत्नी प्रकाश द्वारा सरकारी पैसे के गबन के संबंध में की गई शिकायत मे 1.शिव प्रकाश ने बताया कि जमुना के खेत से मुड़हा तक कल्याणी नदी जीर्णोद्धार कार्य में लाखों रुपए का गबन किया गया। जो कि बिना कार्य संपन्न कराए ही भुगतान निकाल दिया गया।

2. ग्राम प्रधान द्वारा कैटल शीड के नाम पर लाखों रुपए का नमन किया गया जो कि फर्जी रूप से अनीता, शारदा, पूनम आदि के नाम पर दिखाया गया।

3. ग्राम प्रधान द्वारा डामर रोड से कृपाशंकर के खेत तक सामुदायिक भूमि विकास के नाम पर लाखों रुपए का फर्जी भुगतान निकाला गया जबकि मौके पर कोई कार्य नहीं हुआ।

 

4. मंसाराम के खेत से शिवराम के खेत तक सामुदायिक भूमि विकास के नाम पर सरकारी धन का गबन किया कि कोई कार्य नहीं हुआ।

5. ग्राम प्रधान द्वारा मजरा मुडहा में आरसीसी रोड निर्माण कराया गया जो कि मानक के विपरीत है इसके किनारे नाली का निर्माण नहीं हुआ।

6. ग्राम प्रधान द्वारा कार्यों की खुली बैठक न कराकर स्वयं ग्रामसभा रजिस्टर व पंचायत व समितियों के रजिस्टर व प्रशासन रजिस्टर में स्वयं कार्य दर्ज कर फर्जी सदस्यों के हस्ताक्षर किए गए।

प्रार्थी ने 2021- 22 वा 22 -23 में कराए गए शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं कार्यक्रमों के अंतर्गत की गई धनराशि की उच्च स्तरीय समिति गठित का स्थलीय जांच कराने का सी डी वो से अनुरोध किया था जिस पर सीडीओ उन्नाव ने सभी तथ्यों की जांच कर फोटो ग्राफी साक्ष्य उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया है ।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES