Monday, August 8, 2022
Homeमध्य प्रदेशविधायक के दवाब में हुई पूर्व मंत्री यादवेन्द्र सिंह और उनके परिजनों...

विधायक के दवाब में हुई पूर्व मंत्री यादवेन्द्र सिंह और उनके परिजनों के विरूद्ध एफआईआर

जिला ब्यूरो/मनोज सिंह

 

विधायक के दवाब में हुई पूर्व मंत्री यादवेन्द्र सिंह और उनके परिजनों के विरूद्ध एफआईआर

विधायक के पीए के डाक्टर पुत्र ने की फर्जी डाक्टरी परीक्षण

टीकमगढ़। विधायक राकेश गिरी के दवाब में पुलिस प्रशासन ने पूर्व मंत्री यादवेन्द्र सिंह एवं उनके परिजनों पर धारा 307, 326 आईपीसी के तहत मामला पंजीवद्ध किया है। इतना ही नहीं उनके पीए के पुत्र जो कि डाक्टर हैं, उनकी मदद से फर्जी डाक्टरी कराई गई। सारे मामले में प्रशासन और बीजेपी की सांठगांठ के कारण हमारे परिवार को परेशान किया जा रहा है। यह आरोप जिला पंचायत सदस्य श्रीमती सुषमा-यादवेन्द्र सिंह ने लगाते हुये इस मामले की निष्पक्ष जांच कर झूठी रिपोर्ट लिखाने वाले एवं फर्जी डाक्टरी करने वाले पर भी कार्रवाई की जाए। श्री मती सिंह ने कहा कि बीजेपी सरकार दवाब की राजनीति करने में लगी है। विधायक राकेश गिरी द्वारा बूथ कैप्चरिंग कराने का आरोप लगाते हुये कांग्रेस नेत्री श्रीमती सिंह ने पुलिस कार्रवाई पर अपनी तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की है। बताया गया है कि कांग्रेस के जिला कार्यालय में पूर्व मंत्री यादवेन्द्र सिंह बुंदेला पर लगाई गई धारा 326 एवं 307 के विरोध में प्रेस वार्ता आयोजित की गई। जिसमें जिला पंचायत सदस्य श्रीमती सुषमा सिंह बुंदेला, कांग्रेस जिला अध्यक्ष नवीन साहू, कांग्रेस की प्रदेश सचिव किरण अहिरवार, सूर्य प्रकाश मिश्रा, संजय नायक, अब्दुल गफ्फार, अनीश खान, राज कुमार, राम कुमार यादव, जसवंत बाल्मिक सहित अन्य कांग्रेसी उपस्थित रहे। इस दौरान श्रीमती सुषमा सिंह बुंदेला ने पुलिस प्रशासन पर आरोप लगाते हुए भाजपा विधायक राकेश गिरी के दबाव में आकर कार्य करने की बात कही। उन्होंने बताया कि मेरे पति यादवेन्द्र सिंह बुंदेला और बच्चों पर गलत आपराधिक धाराएं लगाकर आरोपी बनाया गया है। वहीं विधायक और उनके समर्थकों का बचाने में लगी है। उन्होंने कहा कि नगर के वार्ड नंबर 1 की कांग्रेस प्रत्याशी सीता कुशवाहा द्वारा दिए गए आवेदन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई और न ही सुनवाई की गई। कांग्रेस इसके विरोध में आचार संहिता और धारा 144 हटने के बाद आंदोलन करेगी। कांग्रेस के जिला अध्यक्ष नवीन साहू ने भी कहा कि यादवेंद्र सिंह बुंदेला पर जो पुलिस प्रशासन द्वारा भाजपा के विधायक राकेश गिरी द्वारा दबाव डालकर आपराधिक धाराएं लगाकर आरोपी बनाया गया है, इसके विरोध में आगे कांग्रेस आंदोलन करेगी। वहीं श्रीमती सुषमा सिंह बुंदेला ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के जो विधायक राकेश गिरी के पीए नंदकिशोर दीक्षित हैं, उन्हीं के पुत्र जो शासकीय डॉक्टर है, उनके द्वारा मेडिकल रिपोर्ट पूरी तरीके से झूठी बनाकर धाराएं बड़वाई गई हैं। पहले दिन साधारण धाराएं लगाई गई थी, उसी के बाद मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर धारा 326 और 307 जैसी आपराधिक धाराओं का लगाना पुलिस प्रशासन और बीजेपी के बीच सांठगांठ का ही नतीजा है।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES