No menu items!
Monday, September 26, 2022
Homeमध्य प्रदेशमोहनगढ़ तहसील के केशवगढ़ पंचायत का मामला , वन विभाग की जमीन...

मोहनगढ़ तहसील के केशवगढ़ पंचायत का मामला , वन विभाग की जमीन से निकले नाले पर हो रहा अवैध उत्खनन

 

मनोज सिंह/जिला ब्यूरो
टीकमगढ़ जिले में प्रशासन की नाक के नीचे मिट्टी से रेत निकाली जा रही है । जिला मुख्यालय से लगे आस – पास के गांव में लोग अवैध धंधे में लगे हैं , लेकिन खनिज विभाग सहित राजस्व विभाग के अधिकारी ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहे हैं । ताजा मामला मोहनगढ़ तहसील के ग्राम पंचायत केशवगढ़ का सामने आया है । यहां वन विभाग की जमीन से निकले नाले से मिट्टी निकालकर रेत बनाई जा रही है । मामले की शिकायत वन विभाग के चौकीदार ने वरिष्ठ अधिकारियों से की है , लेकिन आला अधिकारियों ने अब तक कोई एक्शन नहीं लिया है । स्थानीय लोगों ने बताया कि नाले की मिट्टी को पानी से धो – धोकर घटिया क्वालिटी की रेत तैयार की जाती है । वन विभाग की जमीन से अवैध उत्खनन
पंचायत सरपंच प्रतिनिधि पुष्पेंद्र जैन ने बताया कि ग्राम पंचायत में वन विभाग का संजय वन नामक उद्यान है । जिसमें हजारों की संख्या में इमारती लकड़ियों के पेड़ लगे थे । धीरे – धीरे जंगल नष्ट होता चला गया । वर्तमान में हालात यह है कि वन भूमि से निकले नाले से मिट्टी निकालकर और उसे पानी से धोकर बड़ी मात्रा में नकली रेत बनाई जा रही है । उन्होंने बताया कि मामले की शिकायत संजय वन के चौकीदार बालकदास यादव ने वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से की थी । शिकायत के बाद भी अधिकारियों ने वन भूमि से मिट्टी निकालकर रेत बनाने वालों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की है । शहर में धड़ल्ले से बिक रही नकली रेत दरअसल , बारिश के मौसम में खनिज विभाग की ओर से नदियों से रेत निकालने पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है । ऐसे में अवैध

कारोबार करने वाले लोग छोटे छोटे नालों की मिट्टी से नकली रेत बनाने में जुट जाते हैं । यही नकली रेत बाजार में 5 से 6 हजार रुपए ट्रॉली बेची जा रही है । इस बारे में खनिज विभाग को भी जानकारी है , लेकिन कार्रवाई नहीं की जा रही है । मामले की जांच के निर्देश दिए इस मामले में रेंजर श्रीराम सूत्रकार का कहना है कि चौकीदार ने इस संबंध शिकायत दर्ज कराई है । डिप्टी रेंजर को जांच के निर्देश दिए गए हैं ।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES