No menu items!
Monday, September 26, 2022
Homeउत्तर प्रदेशमीरगंज अनुबिस डिग्री कॉलेज के पीछे खेत में लगे शीशम के पेड़...

मीरगंज अनुबिस डिग्री कॉलेज के पीछे खेत में लगे शीशम के पेड़ पर युवक की हत्या कर शव पेड़ से लटकाया 

जनपद बरेली मीरगंज _ रविवार को ठिरिया खुर्द निवासी शिशुपाल गंगवार बीसी संचालक आठ लाख रुपये लेकर घर से निकले उनकी किसी ने हत्या कर शव अनुबिस डिग्री कॉलेज के पीछे शीशम के पेड़ से लटका दिया, सूचना पर पुलिस और मृतक के परिजन मौके पर पहुंच गए, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा, फील्ड यूनिट ने घटना स्थल की जांच की, गांव ठिरिया खुर्द निवासी शिशुपाल गंगवार उम्र 45 वर्ष बीसी संचालक हैं साथ ही खेती बाड़ी कर परिवार का पालन पोषण करते थे, रविवार की सुबह बीसी का भुगतान करने के लिए घर से आठ लाख रुपये बैग में लेकर निकले, हुरहुरी अड्डे पर उन्होंने कुछ लोगों को भुगतान दिया, उसके बाद उनकी करीब 11 बजे परिजनों से बात हुई और 12 बजे तक लौटने की बात कही, काफी देर तक घर न लौटने पर परिजनों ने उनके मोबाइल पर कॉल की घंटी बजी लेकिन कॉल रिसीव नहीं हुई, फोन कॉल रिसीव ना होने पर उन्होंने मोबाइल की लोकेशन ट्रेस कराई, मोबाइल की लोकेशन अनुबिस डिग्री कॉलेज के पास ट्रेस हुई, परिजन पहुंचे तो खडंजे पर बाइक खड़ी मिली, रोड से कुछ दूरी पर शीशम के पेड़ से शव लटक रहा था, परिजनों की सूचना पर 6 छह बजे मीरगंज सीओ आरके मिश्रा एवं मीरगंज थाना प्रभारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए, पेड़ पर लटके संचालक के दोनों हाथ पीछे प्लास्टिक की सफेद रस्सी से बंधे थे, अज्ञात लोगों ने उनकी हत्या कर शव पेड़ से लटका दिया, उनकी बाइक अनुबिस कॉलेज और पुलिस चौकी के पीछे परौरा जाने वाले खडंजे पर खड़ी मिली, सीओ आरके मिश्रा ने बताया कि पुलिस ने शव पेड़ से नीचे उतार कर कब्जे में ले लिया, पुलिस को बाइक में रखा बैग मिला, मगर बैग में रुपए नहीं मिले,

दस वर्षों से बीसी जमा करने का काम कर रहे थे शिशुपाल _ शिशुपाल 10 वर्षों से हुरहरी अड्डे पर व्यापारियों की बीसी जमा कर रहे थे, ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि शिशुपाल अट्ठारह 18 बीसी चला रहे थे, बीसी उन्होंने बीते 10 अगस्त को खोली थी, शनिवार की रात में उन्होंने आठ लाख रुपये गिन कर बैग में रखे थे, ठिरिया खुर्द के शिशुपाल गंगवार व्यापारियों का ग्रुप बनाकर उनसे प्रतिदिन निश्चित धनराशि जमा करते थे, भाई महिपाल गंगवार ने बताया कि भतीजे केशव ने रविवार साढ़े 11 बजे शिशुपाल को गांव की पुलिया के पास देखा था, बहरोली के नरेश ने पुलिस को बताया कि उन्होंने रविवार की सुबह शिशुपाल को हुरहुरी अड्डे पर 50 हजार 500 रुपये बीसी के दिए थे, बहरोली के हरिओम और नरदेव मिलकर 3 लाख रूपयों की बीसी शिशुपाल के पास डाल रहे थे, शिशुपाल गंगवार के दो पुत्र और एक पुत्री हैं परिजन बालाजी गए हुए हैं,

बरेली से संवाददाता डॉक्टर मुदित प्रताप सिंह की

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES