No menu items!
Saturday, August 13, 2022
Homeदेशदेश के युवाओं को नहीं रास आई अग्निवीर स्कीम

देश के युवाओं को नहीं रास आई अग्निवीर स्कीम

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध ¸में गुरुवार को बवाल बढ़ गया। देश के नौ राज्यों दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में युवाओं ने गुरुवार को आगजनी और पथराव किया।बिहार के भभुआ रोड रेलवे स्टेशन पर सेना भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं ने इंटरसिटी एक्सप्रेस को आग के हवाले कर दिया। छपरा और गोपालगंज में भी ट्रेन में आग लगाई गई। आरा रेलवे स्टेशन पर पथराव से भगदड़ मच गई।

पूर्वोत्तर रेलवे के अनुसार युवाओं के विरोध के चलते 22 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। वहीं पांच ट्रेनों को आधी यात्रा के बीच ही रोक दिया गया है।

दिल्ली: पटरियों पर लेटकर ट्रेन रोकी

दिल्ली के अलग-अलग हिस्से से आए युवा नांगलोई रेलवे स्टेशन की पटरियों पर लेट गए और रेल मार्ग को बाधित कर दिया। वो सुबह करीब 9.45 बजे पहुंचे और नारेबाजी शुरू कर दी। इस बीच कुछ युवा ट्रेन की पटरियों पर लेट गए। इससे रेल मार्ग बाधित हो गया। हरियाणा के जींद से पुरानी दिल्ली आ रही ट्रेन को स्टेशन पर ही रोकना पड़ा। पुलिस, जीआरपी और अधिकारियों के समझाने के बाद प्रदर्शनकारियों ने बाद में रेलवे ट्रैक खाली कर दिया।

 

उत्तर प्रदेश: पुलिस से नोकझोंक

बुलंदशहर में भी युवा अग्निपथ के खिलाफ सड़कों पर उतर गए हैं। युवाओं ने सड़क जामकर अपना विरोध जताया। मौके पर पहुंची पुलिस ने सड़क खाली कराने की कोशिश की तो दोनों पक्षों में नोकझोंक भी हुई। इसी तरह उन्नाव में विरोध कर रहे छात्रों को पुलिस ने खदेड़ दिया। वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अग्निपथ योजना युवाओं के जीवन को नई दिशा देने के साथ भविष्य को स्वर्णिम आधार देगी।

 

बिहार: नवादा में भाजपा विधायक पर हमला

अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे युवाओं ने भाजपा विधायक अरुणा देवी के काफिले पर उस वक्त हमला बोल दिया जब वो कोर्ट जा रही थीं। घटना में विधायक समेत पांच लोगों के घायल होने की खबर है। छात्रों ने नवादा स्थित भाजपा कार्यालय में भी तोड़फोड़ की है। युवाओं ने बक्सर रेलवे स्टेशन पर काशी पटना एक्सप्रेस को करीब 10 मिनट रोक दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्रों को समझा बुझाकर रेलवे ट्रैक से हटाया जिसके बाद ट्रेन को रवाना किया गया।

 

वाहनों को आग लगाई

सेना की तैयारी कर रहे सैकड़ों छात्र अचानक सड़कों पर उतर गए। युवाओं ने पलवल के उपायुक्त के आवास का घेराव कर दिया। इसके बाद युवाओं ने सड़क जाम कर कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया। पुलिस को हालात पर काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है। बड़ी संख्या में छात्रों ने गुरुग्राम-जयपुर हाईवे को भी बंद कर दिया। पुलिस ने रूट डायवर्ट कर रास्ते में फंसे लोगों को सुरक्षित तरीके से निकाला।

 

अग्निपथ योजना के विरोध में सड़क पर उतरे छात्रों को रोकने के लिए ग्वालियर में मध्य प्रदेश पुलिस ने लाठीचार्ज किया। ग्वालियर के बिरला नगर रेलवे स्टेशन के प्रबंधक के दफ्तर में भी तोड़फोड़ का मामला सामने आया है। इसी तरह झांसी में भी युवा सड़क पर उतरे और टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन किया। उत्तर मध्य रेलेवे के झांसी डिविजन का कहना है कि छात्रों की भीड़ ने कई ट्रेनों पर पत्थर फेंके हैं। वहीं सात से अधिक ट्रेनों को अलग-अलग स्थानों पर रोका गया है।

तैयारी कर रहे युवाओं ने अग्निपथ योजना के विरोध में जयपुर-दिल्ली हाईवे (एनएच-8) को जाम कर दिया। वहीं सीकर में कलेक्ट्रेट दफ्तर पर हमला कर तोड़फोड़ करने का मामला सामने आया है।

  1.  सेना में नौकरी पहले की तरह दी जाए।
  2.  अग्निपथ योजना को वापस ले केंद्र सरकार।
  3. दो साल से बंद पड़ी भर्तियों को शुरू कराया जाए।

 

सरकार ने दी सफाई

  1.  अग्निवीरों को वित्तीय सहायता और बैक लोन की सुविधा मिलेगी।
  2. जो पढ़ना चाहते हैं उन्हें 12वीं की पढ़ाई के बराबर प्रमाण पत्र मिलेगा।
  3. जो अग्निवीर सेवा के चार साल बाद पक्की नौकरी चाहते हैं उन्हें अर्धसैनिक बलों और पुलिस में पक्की नौकरी मिलेगी।

विपक्ष का पलटवार

देश के बेरोजगार युवाओं की आवाज सुनिए, इन्हें अग्निपथ पर चलाकर इनके संयम की अग्निपरीक्षा मत लीजिए प्रधामंत्री जी।- राहुल गांधी, कांग्रेस नेता

अग्निपरीक्षा योजना विवादित होने के साथ इसमें कई तरह के जोखिम हैं। इस योजना में कोई गारंटी नहीं है कि इसके तहत युवाओं को देश सेवा के लिए बेहतर तरीके से प्रशिक्षित किया जा सकता है।- पी चिदंबरम, वरिष्ठ कांग्रेस नेता

अग्निपथ योजना देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए योग्य नहीं है अग्निपथ योजना को तत्काल प्रभाव से रद्द होनी चाहिए।- सीताराम येचुरी

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES