No menu items!
Saturday, August 13, 2022
Homeउत्तर प्रदेशUnnao:जागो रे परमेश्वर के चाहने वालों प्रकट हो चुका है जग का...

Unnao:जागो रे परमेश्वर के चाहने वालों प्रकट हो चुका है जग का तारणहार

Unnao: जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी का हुआ सत्संग कार्यक्रम -ऐसी जिला उन्नाव की तहसील पुरवा में मुनींद्र धर्मार्थ ट्रस्ट कुरुक्षेत्र हरियाणा द्वारा अध्यात्मिक सत्संग का आयोजन हुआ। शास्त्र प्रमाणित सत्संग देखने को मिला जगतगुरु तत्वदर्शी सत रामपाल जी महाराज जी के सानिध्य में तहसील स्तरीय विशाल सत्संग में चार वेद 18 पुराण छह शास्त्र पवित्र गीता जो पवित्र कुरान शरीफ पवित्र बाइबल पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब में छुपे गूढ़ रहस्यों को उजागर करते हुए यह सिद्ध कर दिया कि पूर्ण परमात्मा ही कबीर साहेब है सभी सदग्रंथों में परमेश्वर कबीर साहेब का प्रमाण मिला ऐसा प्रमाणित सत्संग ना तो पहले कभी देखा ना कभी सुना होगा। मुनिंदर धर्मार्थ ट्रस्ट के जिला संयोजक गुड्डू दास ने बताया अभी इस पावन धरती पर तत्वदर्शी संत केवल संत रामपाल जी महाराज है जो सभी शास्त्रों के आधार पर तत्वज्ञान का संदेश दे रहे हैं संत रामपाल जी महाराज के आशीर्वाांद से असाध्य से असाध्य बीमारी भी ठीक हो रही है संत रामपाल जी महाराज जी के आशीर्वाद से नशे करने वाले व्यक्तियों के नशे हमेशा हमेशा के लिए छूट रहे हैं *सुखी होगा हर इंसान धरती बनेगी स्वर्ग समान* संत रामपाल जी महाराज का एक ही नारा नशा मुक्त दहेज मुक्त हो भारत हमारा आओ हम सब मिलकर इस नेक काम में सहयोग करें ताकि विश्व में संत रामपाल जी महाराज जी का अध्यात्मिक ज्ञान की क्रांति पूरे विश्व में फैली कुरीतियों और जड़ समाप्त करने का काम, संत रामपाल जी महाराज जी का आध्यात्मिक ज्ञान कर रहा है उसमें हम सभी जीव विश्व कल्याण के लिए समाज में ज्ञान फैला रहे हैं आडंबर नशा चोरी रिश्वतखोरी भ्रूण हत्या दहेज प्रथा आन उपासना जैसी कुरीतियों को जड़ से खत्म हो रही है गांव गांव में तत्वज्ञान का संदेश सत्संग के माध्यम से समाप्त करने के लिए तत्वज्ञान की अलख जगा रही पुस्तक ज्ञान गंगा/जीने की राह के माध्यम से पहुंचा रहे हैं . विश्व में एकमात्र संत रामपाल जी महाराज है जो सभी धर्मों के सद ग्रंथों के आधार पर विद प्रूफ के साथ यह सिद्ध करके बता रहे हैं की पूर्ण परमेश्वर परमात्मा सारी सृष्टि के रचनाकार कबीर साहेब हैं।सैकडो की तादात में पहुंचे श्रद्धालुओं का नारा था वेदों में प्रमाण है कबीर साहेब है भगवान है जिसने 6 दिन के अंदर सृष्टि रची सातवें दिन अपने तखत पर जा विराजे वह अविनाशी परमात्मा 16 शंख कोष को दूरी पर सतलोक में विराजमान रहते हैं सत भक्ति करने वाले श्रद्धालुओं के घोर से घोर पापों को भी दूर कर देते हैं वह परमात्मा कर्मों में लिखे पाप कर्म को भी काट देते हैं मिटा देते हैं अब तक जिन भी संत महापुरुषों ने बताया कर्मों में लिखा पाप तो भोगना पड़ता है लेकिन शास्त्र प्रमाणित ज्ञान से अब मालूम पड़ा कि कर्मों में लिखे पाप कर्म सत भक्ति करने से कट जाते हैं वह सत भक्ति तत्वदर्शी संत से नाम उपदेश लेने के बाद मयादा में रहकर भक्ति करने से सर्व सुख प्राप्त होते हैं।

रिपोर्ट गुड्डू सिंह

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES