No menu items!
Saturday, August 13, 2022
Homeउत्तर प्रदेशConference of Panchayat 2022: ग्राम प्रधान हर गांव में दो-दो अमृत सरोवर...

Conference of Panchayat 2022: ग्राम प्रधान हर गांव में दो-दो अमृत सरोवर बनाएं, और करें शुद्ध जल का एकत्रीकरण

सरोवर के आसपास हो व्यापक वृक्षारोपण,अमृत सरोवर के एक ओर राष्ट्रीय ध्वज भी लगाया जाए

Up:मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को ‘कॉन्फ्रेंस ऑफ पंचायत-2022’ में ग्राम प्रधानों और ग्राम प्रतिनिधियों से कहा कि हर गांव में दो-दो अमृत सरोवर बनाएं, जो शुद्ध जल का एकत्रीकरण का माध्यम बने।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमें संकल्प दिया है कि हर ग्राम पंचायत में अमृत सरोवर बनाया जाए। मुख्यमंत्री इस कांफ्रेस में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये शामिल हुए।

पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा पंचायती राज विभाग के सहयोग से आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्राम पंचायतें हमारी व्यवस्था की आधारभूत इकाई हैं। ऐसे में अगर हम इन ईकाई को मजबूत कर लें, तो बहुत सारी चीजें आगे बढ़ती दिखाई देंगी। शासन स्तर पर बड़ी-बड़ी योजना बनाते रहें और आधारभूत ईकाई उससे अलग रहे, तो उन योजनाओं को शासन स्तर पर बनाने का कोई परिणाम नहीं दिखेगा। इसलिए सबसे छोटी इकाई को इसके साथ जोड़ते हुए इस महत्वपूर्ण कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया है। मुख्यमंत्री ने ग्राम स्तर पर जलवायु परिवर्तन को लेकर कई उदाहरण दिए। उन्होंने संतकबीरनगर जिले में आमी नदी के बारे में कहा कि जब आमी नदी स्वच्छ हो सकती है, तो हमारे गांव के तालाब क्यों नहीं।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि अमृत सरोवर के चारों ओर व्यापक पैमाने पर पौधरोपण किया जाए। अमृत सरोवर का जल कहीं भी प्रदूषित न होने पाए इसकी व्यवस्था की जाए। अमृत सरोवर के एक ओर राष्ट्रीय ध्वज लगाया जाए ताकि राष्ट्रीय पर्वों पर गांव के किसी महानुभाव से ध्वजारोहण की कार्रवाई से जोड़ा जा सके। मॉर्निंग वॉक पर लोग प्राणायाम जैसी क्रियाओं का लाभ ले सकें, ऐसी व्यवस्थाओं को भी जोड़ा जाना चाहिए। उन्होंने राष्ट्रपति के पैतृक गांव के बारे में कहा कि परौंख आदर्श गांव है। गांव के सभी परिषदीय विद्यालयों का रंगरोगन, गांव में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था आदि की गई है। सभी ग्राम पंचायतें शासन की अनेक योजनाओं के साथ खुद को जोड़ने का काम करें। सरकार हर ग्राम पंचायत को शासन की योजनाओं से जोड़कर प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर गांव और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के ग्राम स्वराज की परिकल्पना को साकार करने का काम कर रही है।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES