Monday, August 8, 2022
Homeमध्य प्रदेशगौशाला में मीट पकाये जाने का मामला गर्माया

गौशाला में मीट पकाये जाने का मामला गर्माया

मनोज सिंह/जिला ब्यूरो

गौशाला में मीट पकाये जाने का मामला गर्माया, कार्रवाई की मांग
बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने वीडियो बनाकर उझाला मामला

टीकमगढ़। ओर गौशाला को मंदिर का दर्जा दिया जा रहा है, उसे पवित्र स्थान माना जा रहा है। सरकार गौ माता को भगवान मानकर उसकी सेवा को बढ़ावा दे रही है। वहीं ऐसे में तथाकथित लोग समाज में माहौल खराब करने के लिये विवादित कार्यों को अंजाम देने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई न होने से उनके हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। लोगों ने इस तरह के मामलों पर तत्काल संज्ञान लेकर प्रशासन से सख्त कार्रवाई करने पर जोर दिया है। निकटवर्ती ग्राम चंद्रपुरा में कुछ इसी तरह का मामला प्रकाश में आया है, जहां जाति विशेष के लोगों ने गौशाला में धर्म विरूद्ध कार्यों को अंजाम देकर माहौल को गर्माने का कार्य किया है। बताया गया है कि जिले के बल्देवगढ़ जनपद के ग्राम पंचायत चंद्रपुरा की नवनिर्मित गौशाला में मीट बनाए जाने का मामला सामने आया है। हाल ही में करीब 37 लाख रुपए की लागत से श्री राम हर्षण गौशाला का निर्माण हुआ है। गौशाला में गायों की पहुंचने से पहले ही आज मीट बनाए जाने की खबर लगते ही बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने मौके पर पहुंचकर सच्चाई का पता लगाया। इस दौरान साफ तौर पर देखा गया कि गौशाला परिसर में कुछ लोग बैठे हैं और अंदर ही मीट पक रहा है। यह पूरी घटना बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने कैमरे में कैद कर सोशल मीडिया पर वायरल की है। इस मामले में बल्देवगढ़ जनपद सीईओ प्रभास कुमार घनघोरिया ने मामले की जांच के निर्देश दिए हैं। बजरंग दल के प्रखंड गौरक्षा प्रमुख गोलू कुशवाहा, सह संयोजक रमेश रैकवार ने बताया कि नवनिर्मित गौशाला में मीट बनाए जाने की जानकारी लगी थी। मौके पर जाकर देखा तो गांव के कुछ लोग गौशाला के अंदर बैठे थे और करीब 20 किलो मीट पकाया जा रहा था। बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने पूरी घटना कैमरे में कैद कर जनपद सीईओ को मामले की जानकारी दी। खबर लगते ही सीईओ प्रभास कुमार घनघोरिया मौके पर पहुंचे और उन्होंने निरीक्षण किया। इसके बाद उन्होंने बताया कि गौशाला का संचालन पूर्व सरपंच मीरा-महेश तिवारी के समूह की ओर से किया जा रहा है। जिसकी अध्यक्ष धर्मी बाई और सचिव प्रेम बाई हैं। उन्होंने बताया कि फि लहाल गौशाला में एक भी गोवंश नहीं रखा गया है। जनपद सीईओ ने तत्काल पंचायत सचिव उदय अहिरवार और रोजगार सहायक मुकेश तिवारी को फ ोन लगाया, लेकिन उन्होंने फ ोन रिसीव नहीं किया। इस मामले में जनपद सीईओ ने जांच के निर्देश दिए हैं।
एक समाज की चल रही थी पंचायत
जानकारी में पता चला है कि गौशाला में एक समाज की पंचायत चल रही थी। कुछ समय पहले जुल्फ ी की हत्या हुई थी। इसके विरोध में समाज के लोगों ने जुल्फ ी के हत्यारों सहित उनके संबंधियों को समाज से बहिष्कृत कर दिया था। आज इसी मामले को लेकर अहिरवार समाज की पंचायत गौशाला में रखी गई थी। जिसमें मांस और मदिरा का आयोजन भी किया गया था।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES