Friday, August 12, 2022
Homeउत्तर प्रदेशउन्नाव में पुरवा BDO निलंबित:16 गोवंशों के चारे की धनराशि को गबन...

उन्नाव में पुरवा BDO निलंबित:16 गोवंशों के चारे की धनराशि को गबन करने का आरोप, खंड विकास अधिकारी करेंगे जांच

उन्नाव में वित्तीय अनियमितता और मनमाफिक कार्यशैली के आरोप पर एक ग्राम विकास अधिकारी को जिला विकास अधिकारी ने निलंबित किया है। सचिव पर लगे आरोपों की जांच के लिए सुमेरपुर ब्लॉक के खंड विकास अधिकारी को जांच दी गई है। निलंबन अवधि तक सचिव को पुरवा ब्लॉक से सम्बद्ध किया गया है। लगातार अभियान चलाकर ऐसे अधिकारियों के खिलाफ जांच की जा रही है। उन पर कार्रवाई भी की जा रही है। जिससे अन्य अधिकारी सीख ले सकें।

ग्राम पंचायत बहरौरा बुजुर्ग में संचालित अस्थाई गौवंश आश्रय स्थल का BDO ने निरीक्षण किया था। यहां पर 32 गोवंशों पाए गए थे। जबकि सचिव द्वारा 45 गौवंशों के लिए भूसा चारा की धनराशि की मांग व उपभोग प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया गया था। जिसमें 16 गोवंशों के चारे की धनराशि के गबन किए जाने की वित्तीय अनियमितता बरतने का आरोप है।

विभिन्न काम में पाई गई थी लापरवाही

आवंटित ग्रापं धीनाखेड़ा के विभिन्न मजरों से साफ-सफाई, विकास कार्यों आदि का निस्तारण न करने के साथ ऊंचगांव किला, भूलेमऊ, बहरौरा बुजुर्ग एवं मुरैता प्राची आदि ग्रापं में पूर्व प्रधानों द्वारा कराए गए कार्यों के भुगतान एक साल से अधिक समय बाद भी न किए जाने का आरोप है। क्लस्टर का आवंटन होने के बाद भी पंचायतों का चार्ज नवनियुक्त सचिव को न दिए जाने, शासकीय अभिलेख अनाधिकृत रूप से अपने पास रखने, उच्चाधिकारियों के आदेशों की अवहेलना करने के आरोपों पर पुरवा ब्लॉक में तैनात ग्राम विकास अधिकारी धीरेन्द्र कुमार को निलंबित कर पुरवा ब्लॉक से सम्बद्ध किया गया है।

एक दिन पहले 5 BDO हो चुके हैं निलंबित

उन्नाव में बीते एक दिन पहले प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लापरवाही पाई गई थी। जिसपर सीडीओ दिव्यांशु पटेल ने पांच अलग अलग ब्लॉक के ग्राम विकास अधिकारी को कार्य में लापरवाही पाए जाने पर निलंबित कर दिया था। सभी BDO के खिलाफ विभागीय जांच की कार्रवाई भी चल रही है।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES