No menu items!
Monday, September 26, 2022
Homeमध्य प्रदेशआदेश की अनदेखी • सेल सागर तालाब पर अवैध कॉलोनी काटने वाले...

आदेश की अनदेखी • सेल सागर तालाब पर अवैध कॉलोनी काटने वाले परिवार पर पुलिस और प्रशासन मेहरबान

मनोज सिंह/जिला ब्यूरो

कलेक्टर के आदेश के 11 दिन बाद भी पुलिस ने अवैध कॉलोनी विकसित करने वालों पर नहीं की एफआईआर

टीकमगढ़ शहर के बीचों बीच सेल सागर तालाब की बेशकीमती जमीन को कौड़ियों के दाम स्टाम्प पर बेचकर अवैध कॉलोनी का निर्माण किया गया । इस अवैध कॉलोनी निर्माण करने वाले जिम्मेदारों के खिलाफ टीकमगढ़ कलेक्टर सुभाष कुमार द्विवेदी ने 23 अगस्त 2022 को आदेश जारी किया जिसमें शहनाज बेगम बेवा फारूख अहमद , मारूफ अहमद , फैजल पिता फारूख अहमद , शीमा उजमा पिता फारूख अहमद निवासी टीकमगढ़ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया लेकिन 11 दिन बीत जाने के बाद भी विभागीय अधिकारी इस आदेश पर अमल नहीं कर पाए । वहीं पुलिस विभाग कलेक्टर के इस आदेश को सिर्फ एक कागज मान रहा है । पुलिस का कहना है कि जांच में क्या कमी पाई थी , क्या मामला है । यह विभागीय अधिकारी अब तक स्पष्ट नहीं कर पाए हैं । कोर्ट में मामला सिद्ध करने के लिए साक्ष्य की जरूरत होती है । इतिहासकार टीसी शर्मा बताते हैं कि सेल सागर तालाब पूरी तरह से सरकार की संपत्ति है । इस पर जो कॉलोनी काटी गई है वह पूर्णतः अवैध है । क्योंकि जिस जमीन पर आज इमारतें खड़ी हैं । उस जमीन की किसी भी व्यक्ति के पास रजिस्ट्री नहीं है । सिर्फ चंद रुपए के स्टाम्प पर इस बेशकीमती जमीन को बेचा दिया गया । उन्होंने बताया कि राजशाही दौर में लड़ई सरकार ने यह तालाब शहर के लोगों की प्यास बुझाने के लिए बनाया गया था , जो आज अतिक्रमण की भेंट चढ़ गया है ।

*टीकमगढ़ सेल सागर तालाब की बेशकीमती जमीन पर काट दी अवैध कॉलोनी जिम्मेदारों पर अब तक नहीं कार्रवाई ।*

जिम्मेदारों के जवाब 1. कलेक्टर के निर्देशानुसार अवैध कॉलोनी विकसित करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए फाइल बनाकर कोतवाली भेज दी है । साथ ही फाइल की एक कॉपी पुलिस विभाग को मेल भी कर दी है । -रीता कैलासिया , सीएमओ , नपा टीकमगढ़
2. कलेक्टर के आदेश के बाद सभी दस्तावेज प्रमाणित करवाकर कोतवाली भिजवा दिए गए हैं । दिखवाते हैं कि अब तक एफआईआर क्यों नहीं हो पाई । पुलिस से इस मामले में चर्चा करेंगे । – सीपी पटेल एसडीएम

*टीकमगढ़ यह है पूरा मामला अवैध तरीके से की प्लॉटिंग , कोई अनुमति भी नहीं ली*

शहनाज बेगम , मारूफ अहमद , फैजल , शीमा उजमा के खिलाफ टीकमगढ़ एसडीएम ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया था । जिसमें स्पष्ट किया था कि खसरा नंबर 457/2889/1 , 460 , 327 , 328 , 329 , 330331 , 395 / 9,396 , 400/2 , 401 , 407/9 , 417 , 421 , 428463 , 469 भूमि स्थित टीकमगढ़ किला तहसील व जिला टीकमगढ़ की भूमि पर बिना बंटवारा , बिना रिकार्ड दुरुस्ती के अवैध तरीके से प्लॉटिंग की गई । यह अवैध कॉलोनी निर्माण करते समय नगर निवेश एवं लोक निर्माण विभाग और नगर पालिका परिषद से न तो अनुमति ली गई और न ही अनापत्ति प्रमाण – पत्र लिया गया । साथ ही जमीन बेचते समय कॉलोनाइजर का लाइसेंस भी नहीं लिया गया है । इसके अलावा कॉलोनी काटते समय लोगों की सुविधा रोड , लाइट , पानी , पार्क , नालियों का निर्माण भी नहीं किया गया । ऐसे में कलेक्टर द्विवेदी ने शहनाज बेगम , मारूफ अहमद , फैजल , शीमा उजमा के खिलाफ मप्र भू – राजस्व संहिता , नगर तथा ग्राम निवेश अधिनियम और नगरपालिका अधिनियम के प्रावधानों के तहत एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए थे । *सीधी बात* वीरेंद्र पवार ,थाना प्रभारी कोतवाली
सवाल : – सैल सागर के पास अवैध कॉलोनी विकसित करने के मामले में शहनाज बेगम , मारूफ अहमद , फैजल , शीमा उजमा पर एफआईआर दर्ज हुई या नहीं ?
जवाब : – अभी तक नहीं हुई ।
सवाल : – कलेक्टर के आदेश को 11 दिन हो गए फिर भी मामला दर्ज नहीं हो पाने का क्या कारण है ?
जवाब : – नगर पालिका के अधिकारी एफआईआर दर्ज कराने का एक कागज लेकर आए थे । ऐसे में संबंधित लोगों के खिलाफ किस आधार पर मामला दर्ज करें । इसके लिए दस्तावेज मांगे हैं ।
सवाल : – क्या कलेक्टर का आदेश एफआईआर दर्ज करने के लिए पर्याप्त नहीं है , जो आप और दस्तावेज मांग रहे हैं ? जवाब : – कलेक्टर साहब का आदेश विभाग के लिए है । अब विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों की जिम्मेदारी बनती है कि एफआईआर दर्ज करवाने के लिए पुलिस को जांच प्रतिवेदन और जरूरी दस्तावेज उपलब्ध करवाएं । इस मामले में एसपी साहब से भी मार्गदर्शन लिया है । विभाग जरूरी दस्तावेज उपलब्ध करवा दे तो तत्काल मामला दर्ज हो जाएगा ।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES