Saturday, July 2, 2022
Homeउत्तर प्रदेशMoradabad News: उत्तर प्रदेश का मुरादाबाद बना दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा...

Moradabad News: उत्तर प्रदेश का मुरादाबाद बना दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा ध्वनि प्रदूषण करने वाला शहर, UNEP ने जारी की रिपोर्ट

मुरादाबाद : संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) द्वारा प्रकाशित हालिया एनुअल फ्रंटियर रिपोर्ट 2022 के अनुसार, यूपी का मुरादाबाद (Moradabad News) विश्व स्तर पर दूसरा सबसे अधिक ध्वनि प्रदूषित शहर है। रिपोर्ट में कहा गया है कि मुरादाबाद में अधिकतम 114 डेसिबल (dB) ध्वनि प्रदूषण दर्ज किया गया है। इस रिपोर्ट में कुल 61 शहरों का उल्लेख है।

ध्वनि प्रदूषण की लिस्ट में बांग्लादेश की राजधानी ढाका का नाम पहले स्थान पर है, जिसका सर्वोत्तम 119 डेसिबल है। ढाका और मुरादाबाद के बाद लिस्ट में तीसरे नंबर पर 105 डेसिबल के साथ इस्लामाबाद है। इस लिस्ट में दक्षिण एशिया के कुल 13 शहरों के नाम दर्ज हैं, जिसमें पांच शहर भारत के भी हैं। मुरादाबाद के अलावा, कोलकाता (89 dB), पश्चिम बंगाल का आसनसोल (89 dB), जयपुर (84 dB) और राजधानी दिल्ली (83dB) का भी नाम शामिल है।

Russia Ukraine War: यूक्रेन में युद्ध के बीच लोगों की मदद कर रहा यूपी का यह बिजनेसमैन

बता दें कि 70dB से ज्यादा साउंड फ्रीक्वेंसी सेहत के लिए खतरनाक मानी जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)ने साल 1999 की गाइडलाइन में रिहायशी इलाकों के।।। लिए 55dB की सिफारिश की थी, जबकि ट्रैफिक और बिजनेस सेक्टर्स के लिए इसकी लिमिट 70 dB निर्धारित की गई थी।

ध्वनिक प्रदूषण स्वास्थ्य के लिए कितना खतरनाक
ध्वनिक प्रदूषण से चिड़चिड़ापन एवं आक्रामकता के अलावा उच्च रक्तचाप, तनाव, कान के सुनने की शक्ति का ह्रास, नींद में गड़बड़ी साथ ही अन्य हानिकारक प्रभाव पैदा कर सकता है। 90 डेसिबल और उससे अधिक आवाज सीधे कान में जाने से इसके पर्दे को नुकसान पहुंचता है। दूसरी ओर, 110 डेसिबल या उससे ज्यादा आवाज होने पर कान की नस और उसके पर्दे को घातक रूप से नुकसान पहुंचाता है।

Source link

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES