Tuesday, June 28, 2022
Homeदेशभारतीय सेना भर्ती में लागू होगी अग्निपथ रिक्रूटमेंट योजना

भारतीय सेना भर्ती में लागू होगी अग्निपथ रिक्रूटमेंट योजना

केंद्र सरकार ने मंगलवार को रक्षा बलों के लिए अग्नीपथ भर्ती योजना की घोषणा की है। इस योजना के तहत सैनिकों की भर्ती केवल 4 साल के लिए की जाएगी।तीनों सेनाओं के प्रमुख ने दो हफ्ता पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भर्तियों के लिए अग्नीपथ योजना के बारे में जानकारी दी थी। इस योजना को सैनय मामलों के विभाग डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। वहीं इस योजना की शुरुआत होती तो हमें तो प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बधाई दी है।उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि ‘आदरणीय प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में देश की सुरक्षा के सुदृढ़ीकरण व युवाओं को मिलिट्री सर्विस का सुअवसर प्रदान करने हेतु ‘अग्निपथ योजना’ शुरू करने का निर्णय अत्यंत सराहनीय है। माँ भारती की सेवा को उत्सुक देश के असंख्य युवाओं की ओर से आभार प्रधानमंत्री ।

इस योजना के बारे में बात की जाए तो पहली बार देश की युवाओं 4 साल की अवधि के लिए सेना में शामिल होंगे और देश की सेवा कर सकेंगे। ये रक्षा बलों के खर्च और आयु प्रोफाइल को कम करने की दिशा में भी सरकार के प्रयास का एक हिस्सा है। 4 साल के अंत में लगभग 80% सैनिकों को ड्यूटी से मुक्त कर दिया जाएगा और उन्हें आगे के रोजगार के लिए अवसरों के लिए सशस्त्र बलों से सहायता मिलेगी। कई निगम ऐसे प्रशिक्षित अनुशासित युवाओं के लिए नौकरी आरक्षित करने की भी रुचि लेंगे जिसने देश की सेवा की है।

मीडिया रिपोर्ट की मानें सुरक्षा बलों द्वारा प्रारंभिक गणना में वेतन भत्तों और पेंशन में बचत में हजारों करोड़ का अनुमान लगाया गया था।यदि काफी संख्या में सैनिकों को कर्तव्य अवधारणा के दौरे के तहत लिया जाता है तो भर्ती के लिए युवाओं में सर्वश्रेष्ठ को भी रिक्तियों के उपलब्ध होने की स्थिति में अपनी सेवा जारी रखने का अवसर मिल सकता है।बता दें भारती मॉडल विकसित करने से पहले 8 देशों में इस तरह की भर्ती मॉडल का अध्ययन किया गया है।मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक योजना के तहत जवानों को 4 साल के लिए भर्ती किया जा सकेगा और उसके बाद जवानों को सेवा से मुक्त कर दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि सेवा समूह जवानों को दूसरा नौकरी दिलवाने में सेना एक सक्रिय भूमिका निभाएगी।वहीं भर्तियों में 20 जवानों के 4 साल बाद ही मौका मिलेगा। हालांकि यह तभी संभव होगा जब उस समय भर्तियां निकली हों। इस योजना के चलते सेना को करोड़ों रुपए की बचत हो सकती है। इस तरह कम संख्या में लोगों को पेंशन देनी होगी। वहीं वेतन की भी बचत होगी।भर्ती होने वाले अभ्यर्थियों को 57 हजार रुपये प्रतिमाह मिल सकता है।

अग्निपथ रिक्रूटमेंट योजना की खास बातें-

1. सेना में भर्ती मात्र चार साल के लिए होगी।

2. चार साल वाले सैनिकों को अग्निवीर नाम दिया जाएगा।

3. चार साल बाद सैनिकों की सेवाओं की समीक्षा की जाएगी। समीक्षा के बाद कुछ सैनिकों की सेवाएं आगे बढ़ाए जा सकती हैं। बाकी को रिटायर कर दिया जाएगा।

4. चार साल की नौकरी में छह-नौ महीने की ट्रेनिंग भी शामिल होगी।

5. रिटायरमेंट के बाद पेंशन नहीं मिलेगी बल्कि एक मुश्त राशि दी जाएगी।

6. अग्निपथ मॉडल के तहत सेना में (PBOR) रैंक से नीचे के अधिकारियों की भर्ती की जाएगी। अधिकारियों ने जानकारी दी है कि 4 साल की सेवा में 6 महीने की ट्रेनिंग अवधि भी शामिल है। अग्निपथ के जरिए सेना का हिस्सा बने सैनिकों को प्रति माह 30 हजार से 40 हजार रुपये तक सैलरी मिलेगी। साथ ही इन्हें 48 लाख रुपये का इंश्योरेंस मिलेगा। अधिकारियों ने बताया कि सैनिकों को ‘अग्निवीर स्किल सर्टिफिकेट’ भी मिलेगा, जो उन्हें सेना की सेवा के बाद अन्य नौकरी हासिल करने में मदद करेगा।

7. खास बात ये होगी कि अब सेना की रेजीमेंट्स में जाति, धर्म और क्षेत्र के हिसाब से भर्ती नहीं होगी बल्कि देशवासी के तौर पर होगी। यानि कोई भी जाति, धर्म और क्षेत्र का युवा किसी भी रेजीमेंट के लिए आवेदन कर सकेगा। दरअसल, सेना में इंफेंट्री रेजीमेंट अंग्रेजों के समय से बनी हुई हैं जैसे सिख, जाट, राजपूत, गोरखा, डोगरा, कुमाऊं, गढ़वाल, बिहार, नागा, राजपूताना-राईफल्स (राजरिफ), जम्मू-कश्मीर लाइट इंफेंट्री (जैकलाई), जम्मू-कश्मीर राईफल्स (जैकरिफ) इत्यादि ये सभी रेजीमेंट जाति, वर्ग, धर्म और क्षेत्र के आधार पर तैयार की जाती हैं। आजादी के मात्र एक ऐसी, द गार्ड्स रेजीमेंट ऐसी है जो ऑल इंडिया ऑल क्लास के आधार पर खड़ी की गई थी। लेकिन अब अग्निवीर योजना में माना जा रहा है कि सेना की सभी रेजीमेंट ऑल इंडिया ऑल क्लास पर आधारित होंगी। यानि देश का कोई भी नौजवान किसी भी रेजीमेंट के लिए आवेदन कर सकेगा. आजादी के बाद से रक्षा क्षेत्र में ये एक बड़ा डिफेंस रिफोर्म माना जा रहा है।

8. योजना को हरी झंडी मिलने के बाद साल अगस्त के महीने से रिक्रूटमेंट रैलिया शुरु हो जाएंगी और सेना (थलसेना, नौसेना और वायुसेना) में भर्तियां शुरु हो जाएंगी।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES