Saturday, July 2, 2022
Homeमध्य प्रदेशहत्याकांड: गुत्थी सुलझी, असरदार है आरोपी, हाथ कौन डाले थाने और दफ्तरों...

हत्याकांड: गुत्थी सुलझी, असरदार है आरोपी, हाथ कौन डाले थाने और दफ्तरों से टकरा कर लौट रही बहिन की पुकार

जिला ब्यूरो /मनोज सिंह

 

हत्याकांड: गुत्थी सुलझी, असरदार है आरोपी, हाथ कौन डाले
थाने और दफ्तरों से टकरा कर लौट रही बहिन की पुकार

 

टीकमगढ़। एक दो नहीं, हत्याकांड को हुये पूरे पांच माह से अधिक का समय गुजर गया है। बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओं का नारा देने वाली बीजेपी सरकार के नुमांइदे ही जब बेटी को यातना देने और उसकी फरियाद की अनसुनी करने में लग जाएं, तो फिर न्याय की उम्मीद करना बेमानी ही होगा। पलेरा क्षेत्र की एक बेटी मामा की सरकार से न्याय मांगने के लिये भोपाल, टीकमगढ़ और पलेरा एक कर रही है, लेकिन उसकी फरियाद अफसरों की दीवारों से टकरा कर वापिस लौट रही है। हत्याकांड के आरोपी खुली आम नेताओं के मंच की शोभा बढ़ा रहे हैं और पुलिस कर्मचारी तमाशाई बने सारे मामले में चुप्पी साधे हुये है। बहिन शिवानी रावत के दर्द का अहसास करने की जहमत अब तक कोई उठाता नजर नहीं आ रहा है। आश्वासन देने वालों की फेहरिस्त जरूर लंबी होती जा रही है। शिवानी की मानें तो वह अब तक गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, केन्द्रीय मंत्री डां वीरेन्द्र कुमार, विधायक राकेश गिरी, कलेक्टर सुभाष मिश्रा, पुलिस अधीक्षक प्रशांत खरे सहित थाना प्रभारी एवं अन्य जन प्रतिनिधियों से मुलाकात कर अपने भाई की मौत के हत्यारों को गिरफ्तार करने की गुहार लगा चुकी है। इस संबन्ध में समाजसेवी विनय सिंह ने कहा कि आश्चर्य की बात है कि एक बेटी अकेली भटक रही है और उसे अब तक न्याय नहीं मिल सका है। भगवान न करें ऐसे में यदि उसके साथ कोई अप्रिय घटना घटती है, तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। उन्होंने उसकी सुरक्षा किये जाने और आरोपियों को गिरफ्तार करने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि यदि जरूरत पड़ी, तो वह बड़ागांव धसान में बलात्कार की घटना के साथ ही पलेरा हत्याकांड का मुद्दा भी उठायेंगे। बताया गया है कि भाई सुरेन्द्र रावत की हत्या के बाद से बहिन शिवानी के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। एक ओर भाई की मौत का रंज और दूसरी ओर हत्यारोपियों को गिरफ्तार न करने की मायूसी। दोहरे गम में डूबी बहिन राजधानी से लेकर जिला मुख्यालय तक आवेदन लेकर घूम रही है। आश्चर्य की बात तो यह है कि गृह मंत्री से लेकर कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक तक न्याय की गुहार लगाने के बाद भी अब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। आज यहां शिवानी ने जन सुनवाई में जहां गिरफ्तारी को लेकर आवेदन दियाए वहीं उन्होंने पुलिस अधीक्षक प्रशांत खरे को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है। बताया गया है कि इस संबन्ध में एसपी टीकमगढ़ ने थाना प्रभारी पलेरा को निर्देशित कर मामले का जल्दी ही निराकरण किये जाने के लिये कहा है। यहां बता दें कि पलेरा निवासी सुरेन्द्र रावत की हत्या के मामले में आरोपियों की पांच माह बाद भी गिर$फ तार न होने से खफ ा बहिन शिवानी रावत ने जिला मुख्यालय पर फि र आवेदन देकर जन सुनवाई के दौरा न्याय की गुहार लगाई। उन्होंने यहां अधिकारियों को आवेदन देकर हत्या कांड के आरोपियों की गिरफ्तारी किये जाने पर जोर दिया है। उन्होंने इसके पूर्व फेशबुक लाइव पर उन्होंने अपनी हत्या की आशंका भी जाहिर करते हुये सुरक्षा की गुहार लगाई थी। थाने में प्रदर्शन करते हुये उन्होंने कहा था कि जब वह बीते रोज थाने की ओर आ रही थी, तब रास्ते में उन्हें कुचले का प्रयास किया गया। जिस वाहन ने उन्हें कुचला उसकी प्लेट पर नंबर 4257 लिखा हुआ था। शिवानी का कहना है कि उस पर कभी भी हमला हो सकता है, उसे लगातार धमकियां दी जा रही हैं। शिवानी ने नामजद आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर थाने के सामने प्रदर्शन किया। आज यहां पुलिस अधीक्षक प्रशांत खरे द्वारा मिले आश्वासन के बाद मृतक सुरेन्द्र रावत की बहिन शिवानी में उम्मीद जागी है। उसने कहा है कि न्याय तो लेकर रहूंगी, इसके लिये चाहे कितना भी संघर्ष क्यों न करना पड़े।

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES