Sunday, June 26, 2022
Homeउत्तर प्रदेशउन्नाव: अस्पताल की खामियों पर भड़के मंत्री बोले सीएमएस अस्पताल के लिए...

उन्नाव: अस्पताल की खामियों पर भड़के मंत्री बोले सीएमएस अस्पताल के लिए बोझ

प्रेस वार्ता में पत्रकारों को अपने जबाब से संतुष्ट नही कर पाए मंत्री

उन्नाव जनपद दौरे पर आए भी तो संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना अल्पसंख्यक राज्य मंत्री दानिश अंसारी जनशक्ति राज्य मंत्री दिनेश खटीक ने सुबह 7:00 बजे से निरीक्षण । प्रोटोकॉल और प्रशासन की कार्यक्रम के इतर मंत्रियों ने निरीक्षण कार्यक्रम से किया जिसमें पहले अस्पताल जाना था लेकिन मंत्रियों का काफिला सीधे शुक्लागंज की ओर मुड़ गया शुक्लागंज नगर पालिका की गौशाला का निरीक्षण किया गौशाला में मिली खामियों को लेकर अधिकारियों को निर्देश दिए वो रास्ते में एक सरकारी स्कूल की शिक्षा गुणवत्ता की परख भी की।उसके बाद सीधा जिला अस्पताल पहुंचे और यहां इमरजेसी वार्ड, शौचालय, डायलिसिस विभाग में गंदगी देख का निरीक्षण के दौरान मंत्री का पारा हाई हो गया उन्होंने जिम्मेदारो पर कार्रवाई होने की बात की और कहा ऐसे सीएमएस अस्पताल के लिए बोझ है।

मंत्री सुरेश खन्ना ने लोगों से मिलकर उनका हाल-चाल भी जाना और पूछा कि मैं मंत्री सुरेश खन्ना आपको कैसा इलाज मिल रहा है और क्या आप को बाहर से दवाई लानी पड़ती हैं या अस्पताल में ही मिल जाती हैं इस पर कुछ लोगों ने हां में जवाब दिया वहीं कुछ लोगों ने कुछ नहीं बोले। जिला अस्पताल में ओटी में 2 डॉक्टर और कोई मरीज नही था जिस पर लेकर मंत्री ने नाराजगी जाहिर की। पोनी रोड के चौडीकरण का भी लोगो ने प्रस्ताव दिया।

प्रेस वार्ता में पत्रकारों को अपने जबाब से संतुष्ट नही कर पाए मंत्री

प्रेस वार्ता के दौरान कई पत्रकारों ने जिले में चल रही बिजली कटौती की घटनाओं के संबंध में जिला प्रशासन पर उंगली उठाते हुए प्रश्न किया तो मंत्री जी का जवाब  16 घंटे आपूर्ति की जा रही है। वहीं एक पत्रकार ने गड्ढा मुक्त योजना के बारे में पूछा तो मंत्री जी बोले काम तो चल रहा है ।

प्रेस वार्ता के दौरान जिले की कमियों को लेकर बात कर रहे पत्रकारों से मंत्री जी ने नसीहत दे डाली और बोले कि आप अपना नजरिया बदलिए। और तो और पत्रकारों को चश्मा बदलने की सलाह भी दे दी।

अर्जुन तिवारी TV भारत/TPN news नेटवर्क उन्नाव उत्तर प्रदेश

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES