Wednesday, June 29, 2022
Homeउत्तर प्रदेशललितपुर गैंगरेप मामले में पाली का पूरा थाना सस्पेंड, रक्षक ही बने...

ललितपुर गैंगरेप मामले में पाली का पूरा थाना सस्पेंड, रक्षक ही बने हैवान

उत्तर प्रदेश के ललितपुर में एक नाबालिक किशोरी के साथ 3 दिन तक गैंगरेप किया गया और जब वह इंसाफ की तलाश में थाने पहुंची तो आरोप है कि इंस्पेक्टर ने भी उसके साथ रेप किया गया। फिर किशोरी को चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया गया। जहां काउंसलिंग में किशोरी ने खुद पर बीती सारी बातें बताईं इस मामले में पीड़िता की मां की शिकायत पर इंस्पेक्टर व मौसी समेत के छह लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया। हालांकि किसी की भी गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई है।

जानकारी मुताबिक पाली थाना क्षेत्र की रहने वाली एक महिला ने एसपी को शिकायती पत्र में बताया है कि उसकी नाबालिग बेटी को पाली के चार लोग गत 22 अप्रैल को बहला-फुसलाकर भोपाल लेकर चले गए थे। आरोप है कि उसे रेलवे स्टेशन के पास 3 दिन तक छुपा के रखा गया और गैंगरेप किया गया। फिर 26 अप्रैल को लड़की वापस ले आए और पाली थाने छोड़कर भाग निकले। पुलिस ने लड़की को उसकी मौसी के पास पहुंचा दिया। आरोपी है कि मौसी ने उसे ककराली गांव भेज दिया, जहां गैंगरेप के आरोपी युवक की बहन रहती है। 27 अप्रैल की सुबह पीड़िता को बयान दर्ज करने के लिए थाने बुलाया गया। उसके बाद शाम में आरोपी मौसी पीड़िता को इंस्पेक्टर के कमरे में ले गई। आरोप है कि वहां दुष्कर्म किया गया.रेप के बाद पुलिस ने उसे फिर मौसी को सौंप दिया। इस पूरे मामले में बरामदगी, बयान की सूचना पीड़िता के माता-पिता को नहीं दी गई थी। 30 अप्रैल को जब किशोरी को चाइल्ड लाइन के हवाले किया गया तो वहां उसकी काउंसिल हुई। जिसमें उसने खुद के साथ हुई सारी घटना को बताया. इसके बाद किशोरी की मां की तहरीर के आधार पर एसपी ने मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया। एसपी के निर्देश पर चंदन राजभान, हरिशंकर, महेंद्र चौरसिया, पाली थाने के प्रभारी निरीक्षक तिलधकधारी सरोज, मौसी गुलाबबाई के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

अर्जुन तिवारी TV भारत/TPN news नेटवर्क  उत्तर प्रदेश

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES