Saturday, July 2, 2022
Homeदेशशिक्षा पर राजनीति एक पॉजिटिव सोच: मनीष सिसोदिया

शिक्षा पर राजनीति एक पॉजिटिव सोच: मनीष सिसोदिया

दिल्ली से लेकर गुजरात तक इस समय एक ही चर्चा चल रही है जो सरकारी स्कूलों और शिक्षा व्यवस्था को लेकर है। आम आदमी पार्टी से दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया पिछले हफ्ते गुजरात दौरे पर थे और उन्होंने गुजरात में सरकारी स्कूलों का दौरा किया। जहां उन्होंने पाया कि गुजरात में भाजपा ने स्कूलों को बर्बाद करने का काम किया। खुद गुजरात के शिक्षा मंत्री के गृह नगर भावनगर के 2 सरकारी स्कूलों में पाया कि स्कूल में शौचालय तक नहीं है गंदगी की भरमार है।

मनीष सिसोदिया ने दावा किया कि गुजरात के 13000 सरकारी स्कूल ऐसे हैं जहां एक भी कंप्यूटर नहीं है और 700 स्कूल ऐसे हैं जहां केवल एक शिक्षक है।

साथ ही राजनीति का एक और कदम चल दिया गुजरात के मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री को दिल्ली आने का निमंत्रण देकर उप मुख्यमंत्री  सिसोदिया ने गुजरात सरकार और वर्तमान भाजपा सरकार को चुनौती दे दी।

मनोज सिसोदिया की इस राजनीतिक कदम से भाजपा सरकार ने आनन-फानन में अपने सांसद रामवीर सिंह बिधूड़ी को दिल्ली के स्कूलों में औचक निरीक्षण करने का आदेश दे दिया। खुद सांसद और विधायक को लेकर दिल्ली के स्कूल देखने के लिए भेजे गए बिधूड़ी जी सारा दिन पसीने से तरबतर हो गए लेकिन उन्हें कोई कमी ना मिली।

मनीष सिसोदिया ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा के सांसदों और विधायकों को दिल्ली के स्कूलों में जब बिना डेस्क के बच्चे नहीं दिखे, मकड़ी के जाल में बैठे बच्चे नहीं दिखे तो टूटी टाइल्स और दीवारें दिखा रहे हैं।

मनीष सिसोदिया ने भाजपा सरकार को  कहा कि 27 साल से भाजपा गुजरात में राज कर रही है और शिक्षा व्यवस्था पर जो कार्य किया है उसे देखकर शर्म आती है।

आम आदमी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में भी स्कूलों को लेकर एक पहल शुरू की थी लेकिन उत्तर प्रदेश के लोगों को शिक्षा से ज्यादा धर्म की राजनीति ज्यादा पसंद है।जिसको लेकर वहां आगे बढ़ गए।देश में शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, भुखमरी और लोकतांत्रिक अधिकारों पर बात होनी चाहिए ।

 

अर्जुन तिवारी TV भारत the penpal news नेटवर्क उन्नाव उत्तर प्रदेश

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES