Saturday, July 2, 2022
Homeउत्तर प्रदेशउन्नाव प्रशासन की सख्ती के बाद 5311 अपात्रों ने लौटाए राशन कार्ड,...

उन्नाव प्रशासन की सख्ती के बाद 5311 अपात्रों ने लौटाए राशन कार्ड, समयसीमा बढ़कर हुई 20 मई

राशन कार्ड समर्पण को लेकर लोगों की आ रही है मिली जुली प्रतिक्रिया, कुछ खुश तो कुछ है बहुत दुखी

उन्नाव: जनपद राशनकार्ड सरेंडर करने में सबसे अधिक बांगरमऊ तहसील 1476 तो सबसे कम पुरवा में 405 अपात्रों लोगो ने समर्पित किए है। वही उन्नाव शहर और शुक्लागंज के 1265 अपात्रों ने भी अपना कार्ड सरेंडर किया है।

जिलापूर्ति अधिकारी ने पहले 30 अप्रैल के पत्र से अपात्र राशनकार्ड धारकों को चेतावनी दी थी फिर यह तारीख 15 मई तक हुई अब अपात्र धारकों के लिए राशन कार्ड सरेंडर करने की अंतिम समय सीमा 20 मई कर दी गई है।

नियमों के अनुसार आयकर दाता /चार पहिया वाहन धारक/ ट्रैक्टर / एसी/ सहित 05 एकड़ से अधिक के सिंचित भूमि के स्वामी राशन कार्ड अपात्र होंगे और ग्रामीण क्षेत्र में रुo 2 लाख वार्षिक और शहरी क्षेत्र में रु० 3 लाख से अधिक कमाने वाले भी अपात्र की लिस्ट में आयेंगे।अपात्रों द्वारा राशनकार्ड न लौटने पर उपभोक्ता मंत्रालय के पत्र 13 अप्रैल 2017 के क्रम में गेहूँ की 24. 09/- प्रति किग्रा० व चावल की 32.64 / प्रतिकिग्रा० की दर से होगी वसूली साथ ही एफआईआर दर्ज होगी जिले में 495729 हैं पत्र गृहस्थी और 114370 अंतोदय के राशनकार्ड धारक है। राशन कार्ड समर्पण को लेकर लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रिया भी देखने को मिल रही है लोगों से बात करने पर नरदेव सिंह ने बताया कि सरकार बहुत अच्छा कार्य कर रही है इससे गरीबों को उनका हक मिल सकेगा और जो नाजायज और अपात्र होते भी राशन ले रहे थे अब उनके ऊपर कानूनी कार्यवाही भी होनी चाहिए।

वहीं दूसरी ओर हरिपाल, रामासरे , बब्लू आदि लोगों ने यह भी कहा कि सरकार राशन कार्ड तो जमा करा रही है साथ ही विधायक, सांसद और अधिकारियों के बढ़ते वेतन और पेंशन को भी रोके। गरीब महंगाई ,भुखमरी और बेरोजगारी से परेशान है नेताओं को मिलने वाली सुविधाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है इस पर भी रोक लगे।

अर्जुन तिवारी TV भारत/TPN news नेटवर्क उन्नाव उत्तर प्रदेश

आपकी राय

Sorry, there are no polls available at the moment.
RELATED ARTICLES